जिम्मेदारियां लेने वाले कभी हारते नहीं - Hindi Suvichar



Kis Umra me kamaya jaye, kis umra tak padha jaye,
ye shok nahi halat tay karte hai


किस उम्र में कमाया जाए किस उम्र तक पढ़ा जाए
यह शौक नहीं हालात तय करते हैं






Jeevan me takleef usi ko aati hai, jo humesha jimmedariya uthane ko taiyar hai, or jimmedariya lene wale kabhiaarte nahi, ya to jitte hai ya fir sikhte hai



Hindi Suvichar

जीवन में तकलीफ उसी को आती है जो हमेशा जिम्मेदारियां उठाने को तैयार रहते हैं
और जिम्मेदारियां लेने वाले कभी हारते नहीं या तो जीतते हैं या फिर सीखते हैं




Post a Comment

0 Comments