Shayari - नहीं जानता मैं मोहब्बत के बारे में


Jyada kuch to nhi janta mai,
mohabbat ke bare me,
bas tum sanme aate ho to,
talash khatm ho jati hai.



Shayari
Shayari



ज्यादा कुछ तो नहीं जानता मैं,
मोहब्बत के बारे में,
बस तुम सामने आते हो तो,
तलाश ख़तम हो जाती है


Post a Comment

0 Comments