Shayari Photo - बसेरा आकाश में नहीं है।


Safalta ki uchaiyon par ho to dhiraj rakho kyuki,
pakshi bhi janta hai ki basera aakash me nhi hai.

 


Shayari Photo

सफलता की उचाईयों पर हो तो धीरज रखो क्योंकि
पक्षी भी जानता है कि बसेरा आकाश में नहीं है।


Post a Comment

0 Comments