Ishq Shayari - इश्क़ है या इबादत अब कुछ समझ नही आता


Ishq hai ibadat, ab kuch samajh nahi aata,
ek khubsurat kyal ho tum,
Jo Dil se nahi jata.



Ishq Shayari



Ishq Shayari



“इश्क़ है या इबादत अब कुछ समझ नही आता,
एक खूबसूरत ख्याल हो तुम, जो दिल से नही जाता।”


Post a Comment

0 Comments